Sunday, July 14, 2024

गलती ढूंढने वालों को गूगल ने दिया 65.79 करोंड़ रुपये का इनाम

अगर आप यह सोंचकर चलते हैं कि गूगल पर मिलने वाली सारी जानकारी सही होती है तो आप गलत हैं। इसलिए गूगल हर साल ऐसे रिसर्चर्स का चुनाव करता है जो गूगल में बग्स या गलतियां खोजकर उन्हें रिपोर्ट करते हैं। इनको गूगल करोंड़ों रुपयों का इनाम देता है।

ऐसा ही कुछ एक बार फिर गूगल की तरफ से किया गया है। गूगल ने साल 2021 के लिए बग्स ढूंढकर उन्हें रिपोर्ट करने वाले लोगों के नामों का ऐलान कर दिया है। इनको 87 लाख डॉलर यानी कि 65.79 करोंड़ रुपये दिए गए हैं।

इंदौर के अमन को मिला इनाम

इनमें इंदौर के अमन पांडेय का नाम शामिल है। उन्हें गूगल की तरफ से मोटा इनाम दिया गया है। बता दें, अमन पांडेय Bugsmirror नामक कंपनी के संस्थापक और सीईओ हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 220 सबसे अलग रिपोर्ट्स के चुनाव के बाद 2.96 डॉलर का इनाम दिया गया है। जानकारी के अनुसार, इसमें अमन पांडे, Yu-Cheng Lin और रिसर्चर gzobqq@gmail.com का नाम शामिल है। बताया जा रहा है कि इन तीनों को सबसे अधिक इनाम मिला है।

कंपनी की तरफ से जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि, ‘Bugsmirror टीम के अमन पांडे ने पिछले साल की हमारी रिसर्चर लिस्ट में टॉप पर हैं। उन्होंने 2021 में 232 vulnerabilities सबमिट की हैं। उन्होंने अपनी पहली रिपोर्ट 2019 में सबमिट की थी। अमन ने अब तक 280 वैलिड vulnerabilities रिपोर्ट की है।’

भोपाल से किया ग्रेजुएशन

मालूम हो, इंदौर निवासी अमन पांडे ने एनआईटी भोपाल से ग्रेजुएशन पूरा किया है। उन्होंने साल 2021 में अपनी कंपनी Bugsmirror को हाल ही में आधिकारिक तौर पर रजिस्टर करवाया है। यह कंपनी गूगल, एप्पल और अन्य कंपनियों को उनके सुरक्षा सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए मदद करती है। इसके लिए ये कंपनी उनके सिस्टम की खामियों को खोजती है और उन्हें उन पैरामीटर्स पर काम करने की सलाह देती है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here