Sunday, July 14, 2024

Sonali Bendre से शादी करना चाहते थे राज ठाकरे, मगर इस लिए नहीं कर पाए शादी…

Sonali Bendre : बात करें 90 के दशक की तो महाराष्ट्र और ख़ास तौर पर मुंबई में बाला साहब ठाकरे का सिक्का चलता है. राजनीतिक गलियारों के साथ-साथ सिनेमा में भी ठाकरे परिवार की अहम भूमिका थी. मगर आज हम जिस बारे में बात करने जा रहे हैं वह बात शायद सिर्फ 90 के दशक के लोग ही जानते होंगे. हम बात कर रहे हैं ऐसे किस्से की जो 90 के दशक में काफी चर्चा में हुआ करता था. यह किस्सा बाला साहब ठाकरे के भतीजे राज ठाकरे और एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे की मोहब्बत का है. दोनों एक दूसरे से बेपनाह मोहब्बत करते थे. मगर राज ठाकरे जब सोनाली बेंद्रे की मोहब्बत में गिरे तो उस वक़्त वे शादी शुदा थे. बस मामला यहीं आकर फंस गया.

बाल ठाकरे ने साफ मना कर दिया :

बता दें कि जब बाला साहब ठाकरे को राज ठाकरे और Sonali Bendre की प्रेम कहानी के बारे में और वो एक दूसरे से शादी करना चाहते थे के बारे में पता चला तो बाल ठाकरे अड़ गए. बाला साहब ठाकरे ने कहा कि उनके शादी शुदा होने के बाद दूसरी शादी करना पार्टी और परिवार दोनों की छवि के लिए ठीक नहीं है. राज ठाकरे ने बाला साहब ठाकरे की बात मान ली और और Sonali Bendre के साथ शादी के फैसले से पीछे हट गए. मगर मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो उनका अफेयर काफी दिनों तक चलता रहा.

Sonali Bendre

राजनीति पर मोहब्बत कुर्बान की थी : 

राज ठाकरे ने बाला साहब ठाकरे की बात मान ली इसके पीछे वजह यह थी कि राज ठाकरे को लगता था कि बाला साहब  ठाकरे के बाद पार्टी की कमान उन्हीं को मिलेगी मगर ऐसा न हुआ, पार्टी की कमान उद्धव ठाकरे के हाथों में चली गई. इसके बाद राज ठाकरे ने अपनी नई राह चुनते हुए नई पार्टी का निर्माण किया जिसका नाम उन्होनें ‘महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना’ रखा.

इसलिए बदल लिया नाम :

बता दें कि राज ठाकरे के पिता श्रीकांत ठाकरे ने राज ठाकरे का नाम स्वरराज रखा था. श्रीकांत ठाकरे पेशे से एक म्यूजिक डायरेक्टर थे. इसी लिए उन्होंने अपने बेटे का नाम स्वरराज ठाकरे रखना उचित समझा. स्वरराज का मतलब स्वरों का राजा होता है. हालांकि राज ठाकरे को म्यूजिक में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं था बल्कि उनको चाचा बाल ठाकरे की तरह एक कार्टूनिस्ट बनने का शौक था. वो अपने परिवार की साप्ताहिक पत्रिका ‘मार्मिक’ के लिए अक्सर कार्टून बनाया करते थे. जब राज ठाकरे स्कूल में पढाई कर रहे थे उसी दौरान चाचा बाल ठाकरे ने एक बार उनसे कहा कि कार्टूनिस्ट बनने से पहले उन्होनें भी अपना नाम बाला साहब ठाकरे से बाल ठाकरे रख लिया था. ऐसे ही राज ठाकरे भी अपना नाम स्वरराज से बदल कर राज ठाकरे करके अपने नए करियर की शुरुवात कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें : Jamsetji Tata बने थे देश की पहली कार के खरीदार, जानें देश की पहली कार की ख़ास बातें

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here