Sunday, May 26, 2024

इन दो हिंदूओं ने पाकिस्तानी सेना में लेफ्टीनेंट कर्नल बनकर रचा इतिहास

- Advertisement -
- Advertisement -

पाकिस्तान जैसे मुस्लिम बहुमल देश में किसी हिंदू धर्म के व्यक्ति को सेना में इतने बड़े पद पर बैठने का मौका मिला है। हिंदूओं का नाम रौशन करने वाले इस शख्स का नाम डॉ. कैलाश कुमार है। पाकिस्तानी सेना में पहले से मेजर के पद पर तैनात कैलाश को पाकिस्तानी आर्मी में लेफ्टीनेंट कर्नल के रुप में पदोन्नति मिली है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी हिंदू को इतने बड़े पद की जिम्मेदारी सौंपी गई हो।

2008 में ज्वाइन की आर्मी

बता दें, डॉ. कैलाश कुमार साल 2008 से पाकिस्तानी सेना को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। साल 2019 में उन्हें पाकिस्तानी सेना में मेजर के रुप में नियुक्त किया गया था और अब उनका प्रमोशन हो गया है।

जानकारी के अनुसार, कैलाश का जन्म साल 1981 में सिंध प्रांत के तारपारकार में हुआ था। वे बचपन से डॉक्टर बनना चाहते थे और देश की सेवा करना चाहते थे। इसलिए उन्होंने लियाकत विश्वविद्यालय से एमएमबीबीएस की डिग्री प्राप्त की और चिकित्सक बन गए। बाद में उन्होंने पाकिस्तान सैन्य अकादमी ज्वाइन की जहां से पास होने के बाद उन्हें पाकिस्तानी आर्मी में चिकित्सक के रुप में नियुक्त किया गया।

समय के साथ उन्हें अन्य पदों पर देश की सेवा करने का मौका मिला। अब वे मुस्लिम बहुमल देश के पहले हिंदू लेफ्टीनेंट कर्नल बन गए हैं।

एक अन्य हिंदू भी बना लेफ्टीनेंट कर्नल

पाकिस्तान जैसे कट्टरपंथी देश में डॉ. कैलाश कुमार ने हिंदूओं की साख बनाए रखने का काम किया है।

गौरतलब है, डॉ. कैलाश कुमार के अलावा एक अन्य हिंदू अधिकारी को लेफ्टीनेंट कर्नल के रुप में नियुक्त किया गया है। इनका नाम डॉ. अनिल कुमार है।

पाकिस्तानी सेना में मेजर के पद पर तैनात डॉ. अनिल कुमार अब लेफ्टीनेंट जनरल बन गए हैं। बताया जा रहा है कि अनिल पाकिस्तान के बादिन के रहने वाले हैं और डॉ. कैलाश से उम्र में 1 साल छोटे हैं।

 

 

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here