Saturday, June 25, 2022

अफगानिस्तान की मलाला ने की चंडीगढ़ के हिन्दू युवक से शादी, अब जान के दुश्मन बने तालिबान और इरान जैसे देश

- Advertisement -


अफगानिस्तान की मलाला 2018 में इंडिया पढ़ने के लिए आयी थी। यहां उसने चंड़ीगढ़ के देव समाज कॉलेज में दाखिला लिया । चंड़ीगढ़ में पढ़ाई के दौरान मलाला की मुलाकात सेक्टर 22 में मोबाइल मार्केट में काम करने वाले हिन्दू युवक नीरज से हुई ।

नीरज का साथ मलाला को अच्छा लगा और दोनों प्यार की गिरफ्त में आ गए । मजहब की दीवार बीच मे थी लेकिन मलाला ने तमाम दीवारों को तोड़ते हुए नीरज से शादी रचा ली ।

- Advertisement -

नीरज का परिवार इस शादी से बेहद खुश है । मलाला भी खुश थी । लेकिन मलाला का परिवार इस शादी से खुश नही था ।

भाईयों ने की अफगानिस्तान ले जाने की कोशिस

मलाला के पिता नही है । मलाला के पिता मोहम्मद जारिफ खान को तालिबानी लड़ाकों ने बम से उड़ा दिया था । उसके भाइयों ने मलाला को ले जाने की कोशिस की जिसके लिए मलाला ने मना कर दिया। उसने घरवालों से साफ बोल दिया कि वो अपने भारतीय पति के साथ रहना चाहती है। जिसके बाद भाइयों ने उससे सारे संबंध तोड़ने की बात कहते हुए मरा हुआ मान लिया ।

जन्म से पहले ही तय कर दिया था चचेरे भाई से रिश्ता तय

- Advertisement -

मलाला बताती है कि उसके पिता ने जन्म से पहले ही उसका रिश्ता अपने छोटे भाई यानि चाचा के लड़के से तय कर दिया था । अब मलाला ने यहां भारत आकर उससे शादी करने से मना कर दिया है । जिससे चाचा नाराज है । और उसके भाइयों और अन्य परिजनों को भड़का रहे है। जबकि वह अब नीरज के साथ शादी करके खुश है ।

कई देशों से मिल रही है धमकियां

मलाला और उसके पति नीरज मलिक के अनुसार उन्हें लगातार धमकी भरे काल आ रहे है जिससे वे बेहद परेशान है । उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही है । धमकी देने वाले उन्हें बोल रहे है कि उसने गैर मजहब में शादी की है इसलिए वे उसे सजा देकर रहेंगे । उनके हिसाब से काफिर ( गैर मुस्लिम) से शादी करने की सजा मौत है।
उन्हें धमकी देने वालो में तालिबानी , ईरान , इराक और पाकिस्तान के लोग है।

डर की वजह से छोड़ी नौकरी , केंद्र सरकार से मांगी सुरक्षा

मलाला ने धमकियों की वजह से अपनी नौकरी भी छोड़ दी है । मलाला चंडीगढ़ में ही सेल्स में नौकरी करती थी ।  वहीं नीरज मलिक भी सुरक्षा को लेकर चिंतित है। मलाला और नीरज ने केंद्र सरकार को पत्र भेजकर सुरक्षा की मांग की है। ताकि उनकी सुरक्षा का बंदोबस्त हो सके और इस तरह धमकियां बंद हो जाये ।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular