Tuesday, May 28, 2024

अगर फ्रेश होने में आ रही है दिक्कत, तो इन 3 चीजें से कर ले तौबा

- Advertisement -
- Advertisement -

अक्सर देखा जाता है कि हमारे खान पान की वजह से हमें अलग अलग तरह को बीमारियों में घिरना पड़ जाता है। जिनमें कब्ज की समस्या आजकल बहुत लोगों में देखी जा रही है। कब्ज की वजह से कई बार सुबह के टाइम फ्रेश होने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। लेकिन आदत के अनुसार लोग इसकी दवाई ढूंढते रहते है। लेकिन हम इस बात पर बहुत कम ध्यान देते है कि हम कौन सी गलत चीजों का इस्तेमाल कर रहे है। जिससे हमें ये परेशानी हो रही है। इस लेख में हम आपको कब्ज से जुड़ी 3 चीजों के बारे में बताएंगे जिनके सेवन से हमें सुबह फ्रेश होने में दिक्कत आ जाती है।

कब्ज का मुख्य कारण बनती है ये 3 चीजें

शराब है कब्ज का बड़ा कारण

अगर आप ज्यादा मात्रा में लगातार शराब का सेवन कर रहे है तो इससे आपके शरीर को कई तरह को समस्याओं और बीमारियों का सामना करना पड़ता है। साथ ही साथ फ्रेश होने में को जलन और दर्द का अहसास हमें होता है। वो भी शराब की वजह से हो जाता है। अत्यधिक मात्रा में शराब जब हमारे शरीर में जाती है तो ऐसे में सबसे पहले हमें डिहाइड्रेशन का सामना करना पड़ता है।

ऐसे में जब मल निष्काशित करते समय जब हमें पानी की जरूरत होती है और अवशोषित होने की वजह से मल सख्त हो जाता है। इसके अलावा शराब शरीर की आंतरिक चीजों पर भी प्रभाव डालती है। जैसे कब्ज की समस्या होना, आंतो में सूजन आ जाना, भूख न लगना, अत्यधिक गुस्सा आना। हालांकि किसी किसी को ये उतना नुकसान नहीं पहुंचा पाती।

कई बार दूध भी बन सकता है कब्ज का कारक

वैसे तो दूध हमारे शरीर के लिए बहुत उपयोगी है। क्योंकि इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते है। जैसे कैल्शियम, विटामिन बी12, प्रोटीन आदि। लेकिन कई बार कुछ लोगों के लिए दूध उनकी पाचन प्रक्रिया में प्रभाव डालता है। क्योंकि अगर कोई पाचन समस्याओं से ग्रसित है तो दूध उसकी स्थिती खराब कर सकता है। असल में दूध में कैसियन नाम का प्रोटीन पाया जाता है। जो खासतौर पर कब्ज का कारक बनता है और शिशुओं पर भी इसका बुरा असर पड़ सकता है।

इसके साथ ही अगर आपको दूध से एलर्जी है तो यह आंतो में मौजूद बैक्टीरिया के साथ समस्या उत्पन्न कर सकता है। ऐसी स्थिति में लोगों को डायरिया, उल्टी होने की संभावना बन जाती है। साथ ही साथ इस स्थिति में मल त्याग करते समय दर्द का भी अनुभव होता है।

कॉफी

अगर आप इरिटेटिड बाउल सिंड्रोम से ग्रसित है तो कॉफी सेहत को फायदा पहुंचाने की जगह नुकसान भी कर सकती है।  क्योंकि कॉफी में मौजूद कैफिन पाचन तंत्र की मांसपेशियों को सिकुड़ने का कारक बन जाता है। अगर आपको फ्रेश होने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है तो आप कॉफी को न कहने में देर न करें।

अस्वीकरण: हमारी यह सलाह केवल सामान्य जानकारी प्रदान कर रही है। यह जानकारी इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के आधार pr प्रदान की जा रही है। अधिक और स्पष्ट जानकारी के लिए आप चिकित्सक से ही परामर्श लें। स्टोरी24 इस लेख के सत्य होने की कोई जिम्मेदारी नहीं लेता। यह लेख केवल सामान्य जानकारी मात्र है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here