Thursday, September 22, 2022

बिहार में लड़कों का घर से निकलना हुआ दूभर, कर दिया जाता है ‘पकड़ौआ विवाह’

- Advertisement -

आप सबने 2019 में बॉलीवुड स्टार सिद्धार्थ मल्होत्रा की फिल्म ‘जबरिया जोड़ी’ तो देखी ही होगी। इस फिल्म में अभय सिंह नाम का एक शख्स अपनी गैंग के साथ उन लड़कों को धमकाता है जो अपनी शादी में लड़की के परिजनों से दहेज की मांग करते हैं। इतना ही नहीं ये लोग जबरन दूल्हे को उठाकर लाते हैं और किसी भी लड़की के साथ शादी करवा देते हैं।

ऐसा ही कुछ इन दिनों बिहार में हुआ है। राज्य के समस्तीपुर जिले से लगे गांव मोरवा से एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने सभी को चौंका कर रख दिया है।

- Advertisement -

बहन की ससुराल में भाई के साथ हुई अप्रिय घटना

दरअसल, यहां एक शख्स अपनी बहन को ससुराल छोड़ने के लिए आया था। लेकिन उसकी बहन के ससुराल वालों ने उस शख्स को बंदी बनाकर उसकी जबरदस्ती शादी करवा दी।

- Advertisement -

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दलसिंह सराय के साठा निवासी विनोद कुमार पिछले दिनों अपनी बहन को उसकी ससुराल छोड़ने गए थे। वे इस बात से अंजान थे कि अगले कुछ घंटों में उनके साथ कुछ ऐसा होने वाला है जिसे वे कभी भूला नहीं पाएंगे।

बंदी बनाकर करवा दी जबरदस्ती शादी

विनोद जैसे ही अपनी बहन की ससुराल पहुंचे, उनकी बहन ने उनसे अंदर आने के लिए आग्रह किया कि वे अंदर आएं और सबसे मिलें। इसपर वे अंदर चले गए। यहां कुछ देर तक बैठने के बाद विनोद जैसे ही रवाना होने के लिए उठे तुरंत ही दो दो लोगों ने उन्हें दबोच लिया और उन्हें बंदी बना लिया।

जानकारी के अनुसार, विनोद को बंदी बनाकर उसकी बहन के ससुराल वालों ने उसकी ननद से जबरदस्ती शादी करवा दी।

घटना का वीडियो हुआ वायरल

मालूम हो, इस घटना का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि दो लोग जबरदस्ती दूल्हे के हाथों से पहले तो दुल्हन के गले में वरमाला डलवाते हैं बाद में उसकी मांग भरवाते हैं।

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद इलाके में हंगामा मच गया। विनोद ने इस शादी को मानने से इन्कार कर दिया है, उसका कहना है कि उसकी शादी उसकी मर्जी के खिलाफ हुई है। वहीं, लड़की पक्ष दावा कर रहा है कि दोनों का पहले से ही प्रेम प्रसंग चल रहा था, इसपर घर के बड़े-बूढ़ों ने शादी करवाने का फैसला लिया।

राज्य में आम है पकड़ौआ विवाह

गौरतलब है, बिहार में इस तरह से होने वाली शादियों को ‘पकड़ौआ विवाह’ कहा जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक समय था जब बिहार में इस तरह की शादियां आम थीं। कई लोग इस तरह की वारदात को अंजाम देने के लिए गैंग चलाते थे।

ये लोग अच्छे लड़कों को तलाशते थे और उन्हें किडनैप करके जबरदस्ती शादी करवा दिया करते थे। बिहार पुलिस के मुख्यालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, साल 2014 में 2526,  2015 में 3000,  2016 में 3070 और नवंबर 2017 तक 3405 युवकों को शादी के लिए अगवा किया गया था।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular