Saturday, September 24, 2022

55 साल पहले इस लड़की ने वो कर दिखाया जो कोई न कर सका

- Advertisement -

भारत को आजादी की खुली हवां में सांस लेते तब सिर्फ 19 साल हुए थे। युवाओं के मन मे अपने देश को लेकर नए सपने थे। हर कोई उन खुली हवाओं में अपने भविष्य को लेकर ऊंची उड़ान के सपने देखता था। महिलाएँ और लड़कियां ही कहाँ पीछे थी । पर 1966 में इस तरह विश्व पटल पर छाने का सपना तब सिर्फ सपना ही लगता था।

रीता फारिया उस सपने को पूरा करने निकल पड़ी । मात्र 23 साल की रीता फारिया ने 1966 में मिस वर्ल्ड बनकर जो उपलब्धि हासिल की,उसी का परिणाम है कि भारत को दुनियां में 6 विश्व सुंदरी और 2 ब्रह्मांड सुंदरी मिल चुकी है। अक्सर लोग जानना चाहते है कि भारत की पहली विश्व सुंदरी रीता फारिया कौन है .

पहली मिस वर्ल्ड – जानिए कौन है रीता फारिया ( Reita faria )

- Advertisement -

रीता फारिया का जन्म मुम्बई में 1943 में हुआ । उनके पिता का नाम जॉन और मां का नाम  एंटोइनेट है। पिता एक मिनरल वाटर की फैक्ट्री में कार्यरत थे तो मां एक सेलून में ।

रीता फारिया मिस वर्ल्ड reita faria miss world

- Advertisement -

रीता फारिया पढ़ लिखकर डॉक्टर बनना चाहती थी। मेडिकल में एडमिशन भी ले लिया । इसी दौरान मजाक मजाक में मिस बॉम्बे प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और प्रतियोगिता जीतकर “मिस बॉम्बे” बन गई। उन्हें 5 हजार का ईनाम भी मिला । जिसके बाद उन्होंने मिसवर्ल्ड प्रतियोगिता में जाने का निर्णय लिया।

तब ट्रेनिंग, कपड़े और डिज़ाइनर तक नही थे रीता फारिया के पास

1966 में जब रीता फारिया ने प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का सोचा सबसे पहले यही समस्या थी कि उनके पास कोई ट्रेनर और डिज़ाइनर नही था । उनकी मां ने ही उनके लिए कुछ कपड़े सिलेक्ट किये । कुछ सामान दोस्तो से उधार लिया । स्विम सूट भी उन्होंने किसी से लिया। लेकिन मनोबल बहुत मजबूत था

कुछ पौंड और मेकअप किट के साथ वे लंदन पहुंच गई । यहां जाकर उन्होंने देखा कि अन्य प्रतिभागियों के पास जो सुविधाएं और संसाधन है वे उनके पास नही है। लेकिन रीता फारिया का मेडिकल बैकग्राउंड से होना और जनसेवा का जज्बा उन्हें सबसे अलग बनाता था।

लंदन में 66 सुंदरियों को पीछे छोड़कर रीता फारिया बनी भारत की पहली मिस वर्ल्ड

17 नवंबर 1966 को रीता फारिया ने लंदन के lceym ballroom में आयोजित प्रतियोगिता में 66 देशों की सुंदरियों को पीछे छोड़ते हुए मिस वर्ल्ड का खिताब अपने नाम किया। मिसवर्ल्ड बनने वाली रीता फारिया पहली भारतीय और एशियाई महिला है।

जीतने के बाद उन्होंने फिल्मों और मॉडलिंग का रास्ता चुनने के बजाय महिला डॉक्टर के रूप में जनसेवा को चुनना प्राथमिकता बताया। ईनाम में मिले 2500 पाउंड के ईनाम राशि से संबंधित सवाल पूछे जाने पर उन्होंने अपनी मेडिकल की पढ़ाई को पूरा करने को कहा ।

पहली भारतीय लड़की जिसने प्रतियोगिता में स्विम सूट पहना

1966 का भारतीय समाज वैचारिक तौर पर उतना खुला हुआ नही था। तब आज के मुकाबले लड़कियों को परिवारों में भी उतनी आजादी नही थी। वे लंदन के lyceam ballroom में आयोजित इस प्रतियोगिता में पहली भारतीय लड़की थी जिसने स्विम सूट पहना ।

 

पहली मिस वर्ल्ड जो डॉक्टर भी थी

रीता फारिया ने मिसवर्ल्ड प्रतियोगिता में एक साथ कई रिकॉर्ड तोड़े थे। वह न सिर्फ़ पहली भारतीय और एशियाई महिला है बल्कि मिसवर्ल्ड प्रतियोगिता जीतने वाली पहली डॉक्टर ( फिजिशियन ) भी है। उन्होंने प्रतियोगिता जीतने के बाद कुछ दिन मॉडलिंग की लेकिन फिर चिकित्सा के क्षेत्र में लौट आयी ।

मॉडलिंग छोड़ पढ़ाई पूरी की और बन गयी डॉक्टर

जिस वक्त रीता फारिया ने मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था वो मेडिकल की छात्रा थी। जिसके बाद मॉडलिंग में आ गयी । लेकिन कुछ ही समय बाद उन्होंने मुंबई में ग्रांट मेडिकल कॉलेज व सर जमशेद जी जीजाबाई ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल से अपनी MBBS की पढ़ाई पूरी की । इसके बाद वे लंदन के किंग्स कॉलेज में पढ़ाई करने गयी ।

उस वक्त रीता फारिया ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उनका मन ग्लेमर वर्ल्ड में कम और लोगो की सेवा में ज्यादा लगता है। इसलिए में वापिस चिकित्सा के क्षेत्र में लौट आयी हूँ ।

1971 में की शादी,ग्लैमरस लाइफ छोड़ जी रही है गुमनाम जिंदगी

1971 में रीता फारिया (Reita Faria)ने डेविड पॉवेल से शादी कर ली । डेविड पॉवेल एंडोक्राइनोलॉजिस्ट है ।1973 में रीता अपने पति के साथ डबलिन में जाकर बस गयी और प्रैक्टिस करने लगी।1976 में लंदन में आयोजित मिसवर्ल्ड फाइनल में उन्होंने जज के तौर पर प्रतियोगिता में हिस्सा लिया ।

फिर लंबे समय तक दूर रहने के बाद 1998 में एक बार फिर फैशन की दुनिया मे एक्टिव हुई और फेमिना मिस इंडिया में बतौर जज हिस्सा लिया ।रीता फारिया के दो बेटे और पांच पोते पोतियां है और वे अभी कुछ साल पहले वापिस मुम्बई लौट आयी है।

ये भी पढ़े – संजय गांधी : 1980 में विमान हादसे ने छीना था इंदिरा गांधी का दबंग बेटा, जिंदा होते तो अलग होते राजनीतिक समीकरण

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular