Sunday, April 14, 2024

ये नियम है रतन टाटा की सफलता के राज

- Advertisement -
- Advertisement -

हमारे भारत देश में शायद ही ऐसा कोई नागरिक होगा जो रतन टाटा को न जनता हो. क्योंकि आज टाटा कम्पनी कामयाबी की जिन बुलंदियों को छू रही है. वो उनकी ही मेहनत का ही कमाल है. इसलिए रतन टाटा को भारत देश के सबसे कामयाब बिजनेस मैन के रूप में जाना जाता है. लेकिन बहुत से लोग ये जानना चाहते है कि आखिर उन्होंने अपने जीवन में सफलता को कैसे हासिल किया. आज के इस खास लेख के  माध्यम से हम आपको बताने जा रहे है रतन टाटा की सफलता के नियम जिन्हें अपनाकर कोई भी इन्सान अपनी मनचाही मंजिल को हासिल कर सकता है.

  • सुबह जल्दी उठना :- आपकों बता दें रतन टाटा भी उन लोगों में से एक है. जो सुबह जल्दी उठाना पसंद करते है. क्योंकि सुबह शरीर में जो उर्जा रहती है. वो पुरे दिन नहीं रहती.
  • भरोसा बनाना :- आपको बता दें रतन टाटा ऐसे इंसान हैं, जिनके लिए भरोसा काफी महत्वपूर्ण चीज है. क्योंकि रतन टाटा मानते हैं किसी भी कंपनी के कामयाब होने के लिए उसके कर्मचारी, उसके पार्टनर और उनके शेयर होल्डर के बीच भरोसे का होना बहुत जरूरी है. अपने इसी रूल के वजह से रतन टाटा ने टाटा ब्रांड को भारत का सबसे भरोसेमंद ब्रांड बना दिया. क्योंकि भरोसा एक ऐसी चीज है जिसके बनने के लिए तो सालों का समय लगता है. लेकिन टूटने के लिए एक पल ही काफी होता है. टाटा कंपनी जो 150 साल से भारत में टिकी हुई है. वह लोगों के बीच बनाएं भरोसे पर ही कायम है.
  • कर्मचारियों से अच्छे रिलेशन :- आमतौर पर किसी भी कंपनी  के सक्सेस होने के लिए उसके कर्मचारियों का खुश रहना काफी जरूरी होता है. ऐसे में कंपनी के ओनर या उसके सीईओ को अपने कर्मचारियों से अच्छा रिलेशन बनाना चाहिए. जो कि रतन टाटा हमेशा से करते आए हैं.  इससे कंपनियां दिन दूनी रात चौगुनी करती हैं. कई बार रतन टाटा अपने कंपनी के छोटे से छोटे एंपलाई के घर जाकर उसकी समस्या को सुलझा कर आए हैं.  और पूरी दुनिया में रतन टाटा ही ऐसे शख्स है.  जो अपने कंपनी के छोटे से छोटे कर्मचारी से बात करने में नहीं हिजकिचाते.
  • बड़ी सोच का होना :- एक बार जब रतन टाटा जी से पूछा गया कि आपको बीएमडब्ल्यू खरीदने में कितना समय लगेगा.  जिस पर उन्होंने कुछ समय सोचने के बाद जवाब दिया 5 साल. रतन टाटा जी का यह जवाब सुनकर वह इंटरव्यूर  सोच में पड़ गया.  और कुछ देर बाद उसने रतन टाटा जी से पूछ ही लिया कि आपको बीएमडब्ल्यू खरीदने में इतना समय क्यों लगेगा.  इसके जवाब में रत्न टाटा जी ने कहा बीएमडब्ल्यू बहुत बड़ी कंपनी है जिसको खरीदने के लिए मुझे 5 साल का समय तो लग ही सकता है. यानि  इंटरव्यूअर उनसे बीएमडब्ल्यू कार खरीदने के बारे में बात कर रहा था. जबकि रतन टाटा बीएमडब्ल्यू कंपनी को खरीदने की बात कर रहे थे.  उनकी इस बात से हमें समझ आता है कि हमें अपनी सोच हमेशा बड़ी रखनी चाहिए.
  • अपने फैसले पर कायम रहना :- किसी भी काम को करने के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं. ऐसे ही किसी कंपनी में फायदा और नुकसान हर समय बना ही रहता है. लेकिन बुरा समय आने पर हमें अपने फैसले नहीं बदलने चाहिए. क्योंकि मेहनत और लगन के वह कुंजी है. जिससे बड़े से बड़े नुकसान की भरपाई आराम से की जा सकती है.
  • रिस्क लेना :-  दोस्तों व्यापार का नियम होता है कि जो इंसान रिस्क लेने की क्षमता रखता है. वह व्यापार में अच्छा मुनाफा कमा सकता है. इसके साथ ही वह व्यक्ति जिंदगी में बड़ा मुकाम भी हासिल करता है. रतन टाटा जी कहते हैं अगर किसी भी बिजनेस को बड़ा करना है तो उसके और ओनर को रिस्क लेने में ज्यादा संकोच नहीं करना चाहिए. जब उसे अपने आईडिया पर पूरा विश्वास हो.

यह भी पढ़े :भारत के 5 अविष्कार जिन्होंने दुनियां पर प्रभाव छोड़ा या दुनिया बदल दी

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here