Sunday, May 28, 2023

17 की उम्र में पेशेवर खिलाड़ियों को पीछे छोड़ा इस लड़की ने, फुटबॉल से बनाई पहचान

- Advertisement -

कहते हैं जिस देश की महिलाएं जागरुक होती हैं वहां का भविष्य उज्जवल होता है। भारत में इन दिनों हर क्षेत्र में महिलाओं का योगदान देखने को मिल रहा है। लैंगिक असमानता को लेकर समाज में फैली बुराई का धीरे-धीरे अंत हो रहा है। लेकिन आज भी कुछ शहर ऐसे हैं जहां स्त्रियों को चूल्हे-चौके तक ही सीमित रखा जाता है।

आज हम आपको एक ऐसी लड़की के विषय में बताने जा रहे हैं जिसने महज़ 17 साल की उम्र में अपने हुनर के दमपर पहचान स्थापित कर ली है। इसका नाम हादिया हकीम है।

- Advertisement -

हादिया केरल के मुक्कम शहर में रहती हैं। इन्होंने अपनी 10वीं तक की पढ़ाई कतर में पूरी की। बाद में उनका परिवार भारत लौट आया जिसकी वजह से हादिया को भी आना पड़ा।

- Advertisement -

फुटबॉल के खेल में थी रुचि

बता दें, यहां आकर हादिया के पिता ने उनका एडमिशन चेंदमंगल्लूर हायर सेकेंडरी स्कूल में करवा दिया। बचपन से हादिया का इंट्रेस्ट फुटबॉल में था। उनके पिता अब्दुल हकीम एक पेशेवर फुटबॉल खिलाड़ी रह चुके हैं। यही कारण है हादिया बचपन में फुटबॉल के विषय में सुनकर बड़ी हुईं। समय के साथ उन्हें यह खेल पसंद आने लगा। वे अक्सर अपने भाईयों को फुटबॉल खेलते हुए देखतीं और कई बार उनके साथ खेलने भी लगतीं।

धीरे-धीरे उन्होंने फुटबॉल की सभी बारीकियों को अपने पिता और भाईयों से सीखा। अब वे दिनरात इसी तलाश में रहतीं कि कोई उनके साथ फुटबॉल खेले। हालांकि, उन्हें अपने आस-पास कोई भी महिला ऐसी नहीं मिली जिसके साथ वे फुटबॉल खेल सकें।

टीचर्स के सामने ज़िद पर अड़ी हादिया

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाल ही में हादिया को उनके स्कूल में होने वाले वार्षिक फुटबॉल टूर्नामेंट के विषय में पता चला। उन्होंने अपने टीचर्स से आग्रह किया कि उन्हें भी खेलने का मौका दिया जाए। हालांकि, उनके टीचर्स ने उन्हें मना कर दिया और कहा कि लड़कियों की फुटबॉल टीम उनके स्कूल में नहीं है। इसपर उन्होंने स्कूल प्रबंधन से विनती की उन्हें अपनी फ्री स्टाइल प्रतिभा को प्रदर्शित करने का अवसर दें। काफी सोंच-विचार के बाद प्रधानाचार्य ने उन्हें अपना हुनर दिखाने का मौका दे दिया।

बस फिर क्या था हादिया खुशी से झूम उठीं। उन्होंने इसके लिए दो दिनों तक खूब प्रैक्टिस की। इसके बाद टूर्नामेंट के दिन उन्होंने स्कूल परिसर में वो करके दिखाया जिसे देखकर सभी की आखें फटी की फटी रह गईं।

पेशेवर खिलाड़ियों को दी मात

जानकारी के मुताबिक, हादिया ने एक बार फुटबॉल को हवा में उछाला उसके बाद तकरबीन 2 मिनट तक उसे जमीन पर छूने नहीं दिया। उनका यह कारनामा देखकर सभी चौंक गए। वे इस तरह से खेल रही थीं मानो पेशेवर खिलाड़ी हों।

इस दौरान उनके इस करतब का वीडियो बनाकर किसी ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। अब उनका यह वीडियो धमाल मचा रहा है। अब वे राज्य में फुटबॉल की जानी-मानी खिलाड़ी बन चुकी हैं। उन्हें कई जगहों से टूर्नामेंट के लिए आमंत्रित किया जा चुका है।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular