Friday, September 23, 2022

गरीबी में जी रही बहन की तस्वीर देख भावुक हुए सीएम योगी

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश में चल रहे विधानसभा चुनावों को लेकर आज छठवें चरण की वोटिंग शुरु हो गई है। इसमें 10 जिलों की 57 सीटों पर लोग मतदान कर रहे हैं। इस चरण के मतदान में सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ-साथ कई दिग्गजों की किस्मत का फैसला होगा। पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, योगी सरकार में मंत्री सूर्य प्रताप शाही और देवरिया सदर सीट से शलभ मणि त्रिपाठी, चिल्लूपार से हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर तिवारी जैसे तमाम कद्दावर नेता मैदान में हैं।

ये भी पढ़ें- गरीबी से जूझ रहीं सीएम योगी की बड़ी बहन, भाई की जीत के लिए कर रही दुआ – Story24

- Advertisement -

ऐसे में सभी की नज़र सीएम योगी आदित्यनाथ और भाजपा के तमाम नेताओं पर बनी हुई है। बता दें, सीएम योगी को भाजपा के फायरब्रांड नेता के रुप में देखा जाता है। युवाओं के बीच उनकी फैन फॉलोइंग काफी अधिक है। यही कारण है कि 2022 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी एक बार फिर योगी आदित्यनाथ के नाम पर चुनाव लड़ रही है।

भाई की जीत के लिए बहन करती है दुआ

- Advertisement -

इस स्थिति में योगी आदित्यनाथ का चर्चाओं में रहना लाज़मी है। इस बार वे अपनी बहन को लेकर सुर्खियों में आए हैं। उनके पारिवारिक और निजी जीवन को लेकर अक्सर सोशल मीडिया पर चर्चाएं होती रहती है। इस बीच सीएम योगी की बहन से जुड़ी एक खबर काफी वायरल हो रही है। बताया जा रहा है कि योगी की बड़ी बहन शशि पयाल अपने भाई की जीत के लिए रोजाना 2.5 किमी का सफर तय करके नीलकंठ महादेव मंदिर दिया जलाने जाती हैं।

वहीं, एक इंटरव्यू के दौरान जब सीएम योगी से उनकी बहन के विषय में पूछा गया तो वे भावुक हो गए।

भावुक हुए सीएम योगी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक साक्षात्कार के दौरान सीएम योगी को उनकी बड़ी बहन की तस्वीर दिखाकर पूछा गया था कि मुख्यमंत्री होने के बावजूद आपने अपनी बहन के लिए कुछ क्यों नहीं किया? इसपर योगी भावुक हो गए। उन्होंने रुंधे हुए गले से जवाब देते हुए कहा कि,  ”मैं योगी हूं। मुझे पूरे प्रदेश का ध्यान रखना होता है। एक सीएम के रूप में मैंने राजधर्म की शपथ ली है। परिवार धर्म की नहीं।”

गरीबी में जी रहा परिवार

गौरतलब है, देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने 7 भाई बहनों में 5वें स्थान पर आते हैं। उन्होंने सन्यास लेने के बाद परिवार त्याग दिया था। बेटे की इतनी तरक्की के बावजूद सीएम योगी का परिवार आज भी गरीबी में जीवन व्यतीत करने को मजबूर है। उनकी बड़ी बहन शशि पयाल पौड़ी गढ़वाल स्थित नीलकंठ महादेव मंदिर के बाहर एक छोटी सी चाय की दुकान चलाकर गुज़ारा करती हैं।

ये भी पढ़ें- खारकीव में हुई हिटलर की वापसी? पुतिन ने दोहराया 80 साल पुराना इतिहास – Story24

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular