Tuesday, September 27, 2022

नये वेरियेंट के साथ लौट सकती है कोरोना की लहर

- Advertisement -

हाल ही मे हुए शोध के नतीजों से एक बार फिर कोरोना को खतरा दुनिया पर मंडराने लगा है.

इस पर हुई स्टडी के बाद यह बात सामने आ रही है की ओमिक्रोन और डेल्टा मिलकर एक नया और पहले से भी कहीं गुना ज़्यादा घातक वायरस बना सकते है. WHO ने कहा इस विषय मे उन्हे पहले से ही आशंका थी, क्यों की ओमिक्रोन और डेल्टा दोनो ही बाकी वेरियेंट के मुकाबले काफी तेज़ी से फैल रहा था और अपना असर फैला रहा था.

- Advertisement -

आपके बता दें की यह स्टडी फ्रांस की संस्था पैस्चर यूनिर्वस्टी ने की है, और स्टडी के दौरान उन्हे अपनी बात के काफी सुबूत भी मिले है. स्टडी के दौरान फ्रांस के कई शहरों मे ओमिक्रोन और डेल्टा से बने नये वायरस की पुष्टी भी की जा चुकी है. साथ ही आपको बता दें की यह 2022 की शुरुआत से ही यानी जनवरी से ही प्रसार मे है.

- Advertisement -

सिर्फ फ्रांस मे ही नही जीनोम और प्रोफाइल नाम के इस वायरस की पुष्टी नीदरलैंड मे भी की जा चुकी है.

यह पढ़ें-https://www.story24.in/लॉकअप में सायशा शिंदे का बड़ा खुलासा, बोलीं- ‘बॉयफ्रैंड छत पर मुझे…’

पहले ही की जा चुकी थी पुष्टी

आज जब ओमिक्रोन और डेल्टा से मिलकर बनें नये वायरस की पुष्टी हो रही है तब WHO  का कहना है की इस बारे मे WHO को पहले से ही आशंका थी. यहां तक की WHO मे टेक्निकल टीम की अगुआई करने वालीं मारिया वैन कर्खोव ने एक ट्वीट के ज़रिये कहा की तेज़ी से बढ़ने के चलते WHO ने पहले ही आशंका जताई थी की ओमिक्रोन और डेल्टा मिलकर एक नया वेरियेंट बना सकते है.

पहले क्या कहा था?

जब शुरुआत मे लोगो ने ओमिक्रोन और डेल्टा को मिलाकर एक नया वायरस डेल्टाक्रोन होने की आशंका जताई थी तब WHO ने इस बात को साफ तौर पर खारिज करते हुये यह कहा था की डेल्टा और ओमिक्रोन के कॉम्बिनेशन या डेल्टाक्रोन जैसी कोइ चीज़ नही है.

यह पढ़ें-https://www.story24.in/रुस के खिलाफ Netflix का बड़ा फैसला, सेवाओं पर लगाया प्रतिबंध

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular