Tuesday, May 28, 2024

मंगोलों का वो सरदार जिसके हरम में थी 3000 महिलाएं और था 2 हज़ार बच्चों का पिता

- Advertisement -
- Advertisement -

मंगोलों ने अपनी वीरता का परिचय समूचे एशिया पर कब्ज़ा करके दिया था। वे मंगोल ही थे जिन्होंने मुस्लिम शासकों को धूल चटाई थी।

इन्हीं मंगोलों में एक शासक ऐसा भी था जिसने अपने पराक्रम से दुनिया के 22 फीसदी हिस्से पर कब्ज़ा कर लिया था। उसने अपनी तलवार के आगे दुश्मन को ज्यादा देर तक टिकने नहीं दिया। यही कारण रहा कि एक समय में मंगोल साम्राज्य पूरे एशिया पर हावी हो गया था। ऐसे शौर्यवीर राजा का नाम चंगेज़ खान था। 1162 में जन्म लेने वाला यह मंगोल हमेशा से अपन राज्य को दुनिया तक पहुंचाने के पक्ष में रहा। यही कारण रहा कि 13वीं शताब्दी तक आते-आते चंगेज़ खान अधिकांश दुनिया पर कब्ज़ा जमा बैठा था। उसने मुस्लिमों के वंशजों को करारी शिकस्त देकर उनके राज्य पर मंगोलों का झंडा फहराया था।

ये भी पढ़ें-डीपनेक गाउन में सामंथा ने बढ़ाया सोशल मीडिया का पारा, तस्वीरें हुईं वायरल – Story24

हरम में रहती थीं 3000 महिलाएं

मंगोलों का यह मशहूर शासक अपने रुमानी अंदाज़ के लिए काफी प्रसिद्ध था। इतिहासकारों के मुताबिक, चंगेज़ खान जिस भी राज्य को जीत लेता था वहां की औरतों को अपने इलाके के हरम में भेज देता था। कहा जाता है कि चंगेज़ खान के हरम में एक वक्त 3000 औरतें रहा करती थीं। इन महिलाओं के साथ चंगेज़ खान रात गुज़ारता था।

2000 बच्चों का पिता चंगेज़ खान

जानकारी के अनुसार, चंगेज़ खान 2000 हज़ार बच्चों का पिता था। इस बात की गवाही इतिहास के पन्ने आज भी देते हैं। रशियन एकेडमी ऑफ साइंसेज़ के वैज्ञानिकों द्वारा की गई रिसर्च के मुताबिक, वर्तमान में करीब 1 करोड़ 60 लाख लोग किसी न किसी रूप में चंगेज खान के वंशज हैं।

मंगोलों के राज में समलैंगिकता पर थी रोक

मालूम हो, चंगेज़ खान को उसकी संगठन शक्ति, बर्बरता और साम्राज्य विस्तार के लिए जाना जाता था। इसके राज में समलैंगिकता पर रोक थी। इस बात का खुलासा चंगेज़ खान की कानून संहिता के जरिये किया गया था। चीनी अध्ययनकर्ताओं के मुताबिक, मंगोलों की कानून संहिता दुनिया की सबसे प्राचीन संहिता है। इसके अनुच्छेद 48 में इस बात का जिक्र किया गया है कि अगर मंगोलों के राज में कोई भी व्यक्ति समलैंगिक पाया जाता है या तो उसे मौत की सजा होगी। कहा जाता है कि चंगेज़ खान ने यह कानून इसलिए बनाया था ताकि मंगोलों की जनसंख्या में वृद्धि हो सके।

गौरतलब है, चंगेज़ खान बौद्ध धर्म का अनुयायी था। उसे मुस्लिमों के शासन को नष्ट करने के लिए आज भी याद किया जाता है।

ये भी पढ़ें-उर्फी जावेद का रिवीलिंग ऑउटफिट, लोगो ने कहा- ” ‘क्या कपड़े… – Story24

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here