Thursday, September 22, 2022

My Story : मैंने पति से तंग आकर बनाए नन्दोई से संबंध, मुझे कोई पछतावा नहीं , जानिये एक्सपर्ट की सलाह

- Advertisement -

कहते हैं रिश्तों की डोर काफी कच्ची होती है अगर इन्हें कसके न पकड़ा जाए तो जल्द ही टूट जाती हैं। ऐसे में अगर बात ननद और भाभी के रिश्ते की हो तो यहां जिम्मेदारी अधिक बढ़ जाती है। पति की बहन का सम्मान और उसका ख्याल रखना भाभियों का नैतिक धर्म ही नहीं बल्कि अहम जिम्मेदारी माना जाता है।

कई बार लोग रिश्तों की मर्यादा को बरकरार रखने के लिए अपनी जान तक कुर्बान कर देते हैं हालांकि, हमारे सामने कई ऐसे मामले आते हैं जिनमें रिश्तों की मर्यादा को इंसान अपनी हवस के तले कुचल देता है।

- Advertisement -

ऐसा ही एक किस्सा आज हम आपको सुनाने जा रहे हैं जिसमें एक महिला ने अपने पति से तंग आकर ननद के पति यानी कि अपने नन्दोई में दुनिया-जहां की सारी खुशियां ढूंढ लीं।

ये भी पढ़ें- जब 50 की उम्र में पिता बनने पर सारा ने उड़ाया था सैफ का मज़ाक – Story24

- Advertisement -

शादी के कई साल बाद भी नहीं मिला पति का प्यार

यह कहानी है एक ऐसी महिला की जिसकी शादी को हुए तो कई साल बीत चुके थे लेकिन उसे एक दिन भी पति का प्यार नहीं नसीब हुआ था। वह रोज़ रात को अपने पति के साथ रोमांस करने की कोशिश करती थी लेकिन वह उसकी तरफ देखता भी नहीं था।

आमतौर पर पुरुष हो या महिला हर किसी की अपने पार्टनर से कुछ उम्मीदें होती हैं, वे एक-दूसरे के साथ समय बिताने की चाहत रखते हैं। लेकिन जब दोनों में से एक भी सामने वाले की उम्मीदों को पूरा करने में नाकामयाब होता है जिंदगी नर्क से बद्तर हो जाती है।

ऐसे में बात जब शारीरिक जरुरतों की हो तो हालात काफी बुरे होते हैं।

ऐसा ही कुछ इस महिला के साथ हो रहा था। वह रोज़ कुछ न कुछ स्पेशल ट्राइ करके अपने पति को लुभाने का प्रयास करती थी लेकिन उसका पति उसे छूना तो दूर उसकी तरफ देखना भी नहीं पसंद करता था।

हालातों से समझौता करने को मजबूर थी महिला

रोज़ाना रात को महिला का बदन हुस्न की आग में तपकर ठंडा हो रहा था जबकि पति की जवानी का दिया दिन प्रतिदिन ढलता जा रहा था। इस परिस्थिति में महिला के पास हालातों से समझौता करने के अलावा कोई चारा नहीं था, धीरे-धीरे उसने कोशिश करना भी छोड़ दिया था।

कई महीनों तक यही सब चलता रहा। एक दिन महिला के घर एक बांका-चौंड़ा नौजवान शख्स पहुंचा। देखने में गोरा, लंबी कद-कांठी वाले इस शख्स को देखकर उस महिला को कुछ-कुछ होने लगा। लेकिन उसने अपने इमोशंस पर कंट्रोल किया और उस व्यक्ति को अंदर बुलाया।

बता दें, यह शख्स कोई और नहीं बल्कि महिला की ननद का पति था जो कि उसी दिन लंदन से वापिस लौटा था। महिला ने अपने नन्दोई की खूब खातिरदारी करी। शाम को जब उसका पति आया तो उसने उसे उसकी बहन के पति से मिलवाया। इस दौरान महिला ने दोनों को बातचीत करते हुए सुना कि उसकी ननद और नन्दोई के बीच संबंध कुछ ठीक नहीं चल रहे हैं।

यह सुनकर न जाने क्यूं महिला को मन ही मन खुशी होने लगी। उसे समझ नहीं आ रहा था कि ऐसा क्यों हो रहा है लेकिन उसे काफी अच्छा महसूस हो रहा था।

दोनों एक ही बीमारी के शिकार थे

यहां महिला को एक चीज़ समझ में आ चुकी थी कि जिस रोग से वो गुज़र रही है ठीक उसी बीमारी का शिकार वह आदमी भी है। उसे एहसास हो गया था कि जिस चीज़ की तलाश वह वर्षों से कर रही थी वह उसे इस आदमी से मिल सकती थी। इसलिए महिला ने धीरे-धीरे उस आदमी के साथ नज़दीकियां बढ़ानी शुरु कीं।

धीरे-धीरे कई हफ्ते बीत गए और बात यहां तक पहुंच गई कि दोनों एक-दूसरे को प्यार भरी नज़रों से देखने लगे थे। नन्दोई को भी इस बात का आभास हो चुका था कि लंबे वक्त से उसे जिस प्यार की जरुरत है वह उसे महिला से मिल सकता है। इसलिए उसने भी कोशिश करना प्रारंभ कर दिया था।

घर में अकेला पाकर बाहों में भरा महिला को

एक दिन सुबह के वक्त महिला उस आदमी के रुम में सफाई करने गई थी कि तभी वह शख्स उठ गया। उस वक्त घर में वे दोनों अकेले ही थे। दोनों ने काफी देर तक एक-दूसरे को देखा। इस दौरान पुरुष ने महिला को कमर से पकड़कर अपनी ओर खींच लिया जिसका महिला ने कतई विरोध नहीं किया। दोनों की सांसे तेज़ हो चुकी थीं, वे एक-दूसरे की जरुरतों को पूरा करना चाहते थे।

इसलिए दोनों ने अपनी पुरानी जिंदगी को भुलाकर एक-दूसरे को किस किया। तकरीबन 4 मिनट तक चले इस किस में दोनों इतना मशरुफ हो गए कि वे अपने सारे गम भूल गए। इसके बाद दोनों ने संबंध भी बनाए।

पहली बार महिला को इस तरह की खुशी प्राप्त हुई थी। उसका चेहरा खिलने लगा था। अब जब उसका पति ऑफिस जाता दोनों एक-दूसरे के साथ संबंध बनाते और अपनी-अपनी जरुरतों को पूरा करते हैं।

गौरतलब है, एक दिन उस पुरुष के लंदन जाने का वक्त आ गया। महिला उसे रोकना चाहती थी लेकिन उसने उसे नहीं रोका और उसे जाने दिया। उसने फैसला किया कि वो उसकी यादों के सहारे अपनी जीवन गुज़रा लेगी।

एक्सपर्ट्स की राय

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, जब इंसान की निजी जरुरतें उसके लाइफ पार्टनर के साथ पूरी नहीं होती हैं ऐसे में वह उन्हें पूरा करने के लिए किसी दूसरे शख्स की तलाश करता है। यह प्रक्रिया पुरुष-महिला दोनों में कॉमन होती है।

डिस्क्लेमर- निजता बनाये रखने के लिए उपर्युक्त स्टोरी में नाम बदल दिये गए हैं। अगर आपकी भी कोई कहानी है तो आप हमें ई-मेल के माध्यम से भेज सकते हैं।

ये भी पढ़ें- रानू मंडल पर चढ़ा भुबन बादायकर का भूत, गा रहीं ‘कच्चा बादाम’ – Story24

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular